Anjum Rehbar's Photo'

अंजुम रहबर

1962 | भोपाल, भारत

मुशायरों की लोकप्रिय कवयित्री

मुशायरों की लोकप्रिय कवयित्री

अंजुम रहबर

ग़ज़ल 6

शेर 6

मिलना था इत्तिफ़ाक़ बिछड़ना नसीब था

वो उतनी दूर हो गया जितना क़रीब था

कुछ दिन से ज़िंदगी मुझे पहचानती नहीं

यूँ देखती है जैसे मुझे जानती नहीं

माँ मुझे देख के नाराज़ हो जाए कहीं

सर पे आँचल नहीं होता है तो डर होता है

तुझ को दुनिया के साथ चलना है

तू मिरे साथ चल पाएगा

  • शेयर कीजिए

दफ़ना दिया गया मुझे चाँदी की क़ब्र में

मैं जिस को चाहती थी वो लड़का ग़रीब था

  • शेयर कीजिए

क़ितआ 8

संबंधित शायर

  • नईम अख़्तर ख़ादिमी नईम अख़्तर ख़ादिमी समकालीन

"भोपाल" के और शायर

  • बशीर बद्र बशीर बद्र
  • कैफ़ भोपाली कैफ़ भोपाली
  • मुनीर भोपाली मुनीर भोपाली
  • अख़्तर सईद ख़ान अख़्तर सईद ख़ान
  • परवीन कैफ़ परवीन कैफ़
  • डॉक्टर आज़म डॉक्टर आज़म
  • अबु मोहम्मद सहर अबु मोहम्मद सहर
  • बख़्तियार ज़िया बख़्तियार ज़िया
  • रश्मि सबा रश्मि सबा
  • अंजुम बाराबंकवी अंजुम बाराबंकवी