Mahshar Badayuni's Photo'

महशर बदायुनी

1922 - 1994 | कराची, पाकिस्तान

महशर बदायुनी

ग़ज़ल 58

शेर 7

अब हवाएँ ही करेंगी रौशनी का फ़ैसला

जिस दिए में जान होगी वो दिया रह जाएगा

जिस के लिए बच्चा रोया था और पोंछे थे आँसू बाबा ने

वो बच्चा अब भी ज़िंदा है वो महँगा खिलौना टूट गया

हम को भी ख़ुश-नुमा नज़र आई है ज़िंदगी

जैसे सराब दूर से दरिया दिखाई दे

  • शेयर कीजिए

हर पत्ती बोझल हो के गिरी सब शाख़ें झुक कर टूट गईं

उस बारिश ही से फ़स्ल उजड़ी जिस बारिश से तय्यार हुई

मैं इतनी रौशनी फैला चुका हूँ

कि बुझ भी जाऊँ तो अब ग़म नहीं है

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 2

Mahfil-e-Khawateen

1938 Se 1947 Tak

1948

Shahr-e-Nawa

 

1964

 

चित्र शायरी 1

उसे हम भी भूल बैठे न कर उस का ज़िक्र तू भी कोई चाक अगर हो ज़ाहिर तो करें उसे रफ़ू भी चलो चल के पूछ आएँ कि ख़िज़ाँ की इस गली में कभी आ चुका हो शायद कोई सैल-ए-रंग-ओ-बू भी उड़ी तिश्नगी के कूचे में वो गर्द इक तरफ़ से हम उठा सके न ताक़ों से गिरे हुए सुबू भी अभी कैसे भूल जाऊँ मैं ये वाक़िआ सफ़र में अभी गर्द-ए-रफ़्तगाँ भी है जगह जगह लहू भी इस इरम इरम ज़मीं पर कि बहार उमँड रही है कोई फूल अगर खिला दे मिरी बे-नुमू भी तिरी अंजुमन की रौनक़ में न फ़र्क़ आएगा कुछ हमें चुप बिठाने वाले कभी हम से गुफ़्तुगू भी मेरे ख़ाल-ओ-ख़द को सूरत का फ़रोग़ देने वालो किसी नक़्श में दिखाओ मिरा ज़ख़्म-ए-शोला-रू भी

 

वीडियो 11

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

महशर बदायुनी

Mahshar Badayuni at a mushaira

महशर बदायुनी

Reading his poetry at a mushaira

महशर बदायुनी

करे दरिया न पुल मिस्मार मेरे

महशर बदायुनी

करे दरिया न पुल मिस्मार मेरे

महशर बदायुनी

दियों को ख़ुद बुझा कर रख दिया है

महशर बदायुनी

मिट्टी की इमारत साया दे कर मिट्टी में हमवार हुई

महशर बदायुनी

लब-ए-तलब भी न फिर माइल-ए-सवाल हुआ

महशर बदायुनी

लब-ए-तलब भी न फिर माइल-ए-सवाल हुआ

महशर बदायुनी

वो हाल है कि तलाश-ए-नजात की जाए

महशर बदायुनी

वो हाल है कि तलाश-ए-नजात की जाए

महशर बदायुनी

"कराची" के और शायर

  • आरज़ू लखनवी आरज़ू लखनवी
  • सलीम अहमद सलीम अहमद
  • सीमाब अकबराबादी सीमाब अकबराबादी
  • अनवर शऊर अनवर शऊर
  • शबनम शकील शबनम शकील
  • अज़रा अब्बास अज़रा अब्बास
  • उबैदुल्लाह अलीम उबैदुल्लाह अलीम
  • ज़ेहरा निगाह ज़ेहरा निगाह
  • सलीम कौसर सलीम कौसर
  • जमाल एहसानी जमाल एहसानी