पवन कुमार

ग़ज़ल 27

अशआर 2

कलेजा रह गया उस वक़्त फट कर

कहा जब अलविदा उस ने पलट कर

जसारत के रहते भी ख़ामोश होना

है इस के सिवा क्या सितम-पोश होना

 

चित्र शायरी 1

 

"लखनऊ" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए