नए साल की नज़्में

नये साल के मौक़े जर

हम ने आपके लिए इन्तेख़ाब किया है कुछ बेहतरीन नज़्मों का। पढ़ें और अपने दोस्तों को पढ़वाएँ।

944
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

नज़्म

इक बरस और कट गया 'शारिक़'

शारिक़ कैफ़ी

इसे कहना

उसे कहना दिसम्बर आ गया है

अर्श सिद्दीक़ी

नया साल

नया साल फिर आ गया दोस्तो

अमीन हज़ीं

नया साल

फिर नया साल दबे पाँव चला आया है

अख़्तर पयामी

नया साल

रात की उड़ती हुई राख से बोझल है नसीम

अहमद नदीम क़ासमी

नया साल

करोड़ों बरस की पुरानी

मख़दूम मुहिउद्दीन

नया साल

राज़ क्या चाँद ने तारों से कहा

राज नारायण राज़

नया साल मुबारक

नया साल तुम को मुबारक हो बच्चो

मोहम्मद शफ़ीउद्दीन नय्यर

नया साल

नया साल आया

ज़मीर अज़हर

नया साल

नए साल की यूँ ख़ुशी हम मनाएँ

जौहर रहमानी

नया साल

माँ ने बच्चे को ये समझाया बहुत देर तलक

सय्यद अब्बास रज़ा तनवीर

नया साल

पिछले साल के कैलन्डर के पहलू में

अलीम जहाँगीर

नया साल

है अंदाज़-ए-नीम-सहर निराला आज

फ़ीरोज़ा यासमीन

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए