किश्वर नाहीद की 10 मशहूर नज़्में

पाकिस्तानी शायरा , अपने

स्त्री-वादी विचारों और धार्मिक कट्टरपन के विरोध के लिए मशहूर

1.1K
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

हम गुनहगार औरतें

ये हम गुनहगार औरतें हैं

किश्वर नाहीद

घास तो मुझ जैसी है

घास भी मुझ जैसी है

किश्वर नाहीद

ख़ुदाओं से कह दो

जिस दिन मुझे मौत आए

किश्वर नाहीद

एक नज़्म इजाज़तों के लिए

तुम मुझे पहन सकते हो

किश्वर नाहीद

जिला-वतनी

आज सरहद पे ख़ामोश तोपों के होंटों पे

किश्वर नाहीद

क़ैद में रक़्स

सब के लिए ना-पसंदीदा उड़ती मक्खी

किश्वर नाहीद

बतख़ और साँप

हिरन का एक छोटा बच्चा

किश्वर नाहीद

गिलास लैंडस्केप

अभी सर्दी पोरों की पहचान के मौसम में है

किश्वर नाहीद

आख़िरी ख़्वाहिश

आज तो मेरे कपड़े भी पानी की तरह भारी हैं

किश्वर नाहीद

कुत्ते और ख़रगोश

दो ख़रगोश थे प्यारे प्यारे

किश्वर नाहीद

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए