ADVERTISEMENT

हिज्र पर ग़ज़लें

अगर आप हिज्र की हालत

में हैं तो ये शायरी आप के लिए ख़ास है। इस शायरी को पढ़ते हुए हिज्र की पीड़ा एक मज़ेदार तजुर्बे में बदलने लगेगी। ये शायरी पढ़िए, हिज्र और हिज्र ज़दा दिलों का तमाशा देखिए।

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

वीरान सराए का दिया है

उबैदुल्लाह अलीम
ADVERTISEMENT